Breaking News

2025 के बाद इस देश में नहीं बिकेगी डीजल पेट्रोल की कार

2025 के बाद नीदरलैंड में नहीं बिकेगी डीजल पेट्रोल की कार
2025 के बाद नीदरलैंड में नहीं बिकेगी डीजल पेट्रोल की कार

पॉल्यूशन को कम करने के लिए हम अभी यहां ऑड ईवन भी ठीक से लागू नहीं कर पाए और नीदरलैंड ने बायो ईंधन से चलने वाली सारी गाड़ियां बंद करने का खाका खींच लिया है। यह देश दूसरों के लिए एक मिसाल बनने जा रहा है।

वर्ष 2025 के बाद यहां डीजल या पेट्रोल से चलने वाली गाड़ी की बिक्री बंद कर दी जाएगी। उसके बाद नीदरलैंड में केवल इलेक्ट्रिक कारों को ही मंजूरी मिलेगी। हालांकि डीजल और पेट्रोल से चलने वाली कारें अपनी तय उम्र तक सड़कों पर चलती रहेंगी।

बेशक यह एक बड़ा कदम है, मगर आपको हैरानी होगी कि डच संसद के निचले सदन में ज्यादातर सदस्य इससे सहमत हैं। इसका मतलब ये हुआ कि प्रस्ताव के कानून में बदलने के चांस हैं।

इस देश का मकसद बड़ा साफ है कि डीजल प्रेट्रोल से चलने वाली गाड़ियों को बाहर कर दिया जाए, ताकि लोगों के फेंफड़े चैन की सांस भर सकें भले ही शुरू में केवल नई बिक्री पर बैन लगे। हालांकि हाइड्रोजन से चलने वाली कारों को बैन करने का इरादा नहीं है।
एक बार को सोच कर देखें कि कितना कम वक्त बचा है नीदरलैंड में यह प्रस्ताव लागू होने में और भारत में अभी डीजल से चलने वाली गाड़यां भी कंट्रोल में नहीं आ पाई हैं। पिछले साल नीदरलैड में 43,000 नए इलेक्ट्रिक वाहन खरीदे गए। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वहां की जनता पर्यावरण को लेकर किस हद तक जागरूक हो रही है। हालांकि इस मामले में नॉर्वे का कोई जवाब नहीं। यहां के कार बाजार में इलेक्ट्रिक कारों की हिस्सेदारी 22.39 प्रतिशत है। जबकि अमेरिका में यह 0.66 प्रतिशत, ब्रिटेन में 1.1 और कनाडा में केवल 0.35 फीसदी है।

साइंस अलर्ट डॉट कॉम

 

Check Also

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना पर कहा, हमें अब आगे का सोचना होगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड-19 से उत्‍पन्‍न स्थिति पर चर्चा करने और इस महामारी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *