Home / FIT FIGURE / 5 नुकसान बहुत ज्‍यादा वजन घटाने के आप भी जानें

5 नुकसान बहुत ज्‍यादा वजन घटाने के आप भी जानें

जिन लोगों का वजन ज्‍यादा होता है उन्‍हें चिंता होना सामान्‍य बात है। ज्‍यादा वजन परेशानियां लेकर आता है। वेट घटने पर कई फायदे मिलते हैं। आप यंग दिखने लगती हैं। कपड़े फिट आते हैं। आत्‍मविश्‍वास बढ़ जाता है और लोगों के कमेंट्स मिलते हैं। आपको कमर दर्द, हाईबीपी, डायबिटीज जैसी कई बीमारियों से दूर रहने का मौका मिलता है। मगर बहुत ज्‍यादा वजन घटाने के कम से कम 5 ऐसे नुकसान हैं, जिनके बारे में उस सब लोगों को जान लेना चाहिए जो वेट कम करने की मुहिम में जुटे हुए हैं।
1 ढीली स्‍किन – जब वेट बहुत तेजी से घटता है तो बॉडी की स्‍िकन अक्‍सर लटक जाती है। ऐसा बड़ी उम्र के लोगों के साथ ज्‍यादा होता है। उन लोगों के सामने भी यह परेशानी आती है तो किसी भयंकर क्रैश डाइट या फैट बर्न करने वाली दवा की बदौलत वेट कम करते हैं। मियामी इंस्‍टीट़यूट ऑफ ऐज मैनेजमेंट एंड इंटरवेंशन के डायरेक्‍टर एडोनिस कहते हैं कि जब शरीर का आकार बढ़ता है तो उसे अपने में समेटने के लिए स्‍िकन भी बढ़ जाती है। मगर जब साइज तेजी से गिरता है तो स्‍िकन उतनी तेजी से एडजस्‍ट नहीं कर पाती। उम्र बढ़ती है तो स्‍िकन का रबड़ जैसा खिंचाव कम हो जाता है। वैसे अगर आप एक्‍सरसाइज करेंगी तो इस स्‍किन के लटकने के चांस कम हो जाएंगे। इसके अलावा रेगुलर ऑयल मसाज से भी स्‍िकन में खिंचाव बना रहता है। चेस्‍ट की शेप के लिए एक्‍सरसाइज जरूर करें।[

2 डिप्रेशन – ये बात सही है कि अगर कोई मनमाफिक वेट कम कर ले तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहता। मगर इस बात के चांस भी बढ़ जाते हैं कि आप डिप्रेशन में चली जाएंगी। अक्‍सर जब कोई वेट लॉस की मुहिम में जुड़ता है तो उसका फ्रेंड सर्किल और सोशल सर्किल कम हो जाता है क्‍योंकि उसे अपने लिए टाइम निकालना होता है। लोग पार्टी वगैरा में भी जाना कम कर देते हैं क्‍योंकि उन्‍हें डाइट की चिंता होती है। वेट करने की मुहिम के दौरान आप बहुत से करीबी लोगों से कटऑफ हो जाती हैं और उसके बाद दोबारा से वैसे रिलेशन बनाने में दिक्‍कत आती है। जब आप दूसरों से कट गईं तो दूसरे भी आप से कट जाते हैं। ऐसे में वेट लॉस के बाद एकदम से नए अवतार में प्रकट होने को लोग उतना नेचुरल तरीके से नहीं लेते। आपकी सक्‍सेस स्‍टोरी को कई बार लोग नेगेटिव ले लेते हैं। इससे रिलेशन बिगड़ते हैं और तनाव की संभावना बढ़ जाती है।
3 पेट दर्द – वजन बढ़ाना हो या घटना हो, सबसे ज्‍यादा दम पेट को ही लगाना पड़ता है। तेजी से वजन कम करने के लिए हम मेटाबॉलिक रेट को बढ़ाते हैं। इसके लिए तमाम ऐसी चीजें खाने में शामिल करते हैं जो हम आमतौर पर रोज नहीं खाते। इससे लिवर को बहुत मेहनत करनी पड़ती है। ज्‍यादा फाइबर खाने से आंतों में मौजूद जरूरी फैट भी बाहर निकल जाता है। ज्‍यादा फाइबर खाने के और भी कई नुकसान होते हैं। अगर फैट कम करने वाली दवाएं लीं तो वो लिवर को बहुत नुकसान पहुंचाती हैं। कुल मिलाकर बात ये है कि अगर आपने वेट कम करने के लिए खाना छोड़ा तो भी पेट परेशान होता है और जरूरत से ज्‍यादा फैट घटाने वाली चीजें खाईं तो भी पेट परेशान होता है। पेट का नेचुरल ऑर्डर बिगड़ जाता है, जिसके चलते कब्‍ज और दर्द की परेशानियां सामने आती हैं। अपने खाने में थोड़ा फैट इस्‍तेमाल किया करें, पेट के लिए यह जरूरी होता है।
4 चेहरे की रंगत उड़ जाना– फैट हमें बस मोटा नहीं करता वो हमारी त्‍वचा को खुराक भी देता है। बहुत ज्‍यादा वेट घटाने के चलते चेहरे की रौनक चली जाती है। कई बार आंखों के नीचे काले घेरे भी दिखने लगते हैं।
5 व्‍यवहार में बदलाव – आपने एक बात गौर की होगी कि मोटे लोग अक्‍सर खुशमिजाज होते हैं और बहुत दुबले लोग गुस्‍सैल। बहुत ज्‍यादा वेट गिराने वाले लोगों का व्‍यवहार कई बार बदल जाता है। नॉर्थ कैरोलिना यूनिवर्सिटी का एक अध्‍ययन कहता है कि इससे कई बार कपल के बीच परेशानियां खड़ी हो जाती हैं। एक पार्टनर की वेट लॉस की मुहिम के चलते दूसरा पार्टनर खुद को अकेला महसूस करने लगता है। इससे रिश्‍ते बिगड़ते हैं।

Check Also

अगर आपको स्तनों से जुड़ी कोई बीमारी नहीं है तो ब्रेस्‍ट का साइज बढ़ाया जा सकता है।

2 महीने में ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने के 10 बेस्ट घरेलू उपाय

बड़े अच्छे लगते हैं। ये बात उन महिलाओं से बेहतर कौन समझ सकता है जिनके ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *