Breaking News

मोटापा कम करने वाला बेस्ट इंजेक्शन कौन सा है ?

सवाल – सर मेरा नाम सुनील अग्रवाल है और मैं देहरादून में सरकारी जॉब करता हूं। मैं मोटापे से काफी परेशान हूं। बीते 6 महीने से मैं जि‍म जा रहा हूं और मैंने खूब मेहनत कर अपना 15 कि‍लो वजन कम कर कर लि‍या है। अब कोच सर कह रहे हैं कि इसके आगे मोटापा कम करने के लि‍ए इंजेक्शन लगाना होगा। मैं ये जानना चाहता हूं कि मोटापा कम करने के लि‍ए बेस्ट इंजेक्शन कौन सा है। इसके क्या साइड इफेक्ट होते हैं। मेरी ऊपर की बॉडी में अब काफी कसावट आ गई है, मगर पेट अभी भी काफी बाहर है। कोच सर ने trenbolone लेने को कहा है। क्या ये बेस्ट इंजेक्शन है।

जवाब – Trenbolone बेहद ताकतवर एनाबॉलिक स्टेराइड है। किसी भी और स्टेराइड के मुकाबले यह हरफनमौला है। ट्रेनबोलोन स्टेराइड टेस्टोस्टेरोन से 5 गुना ज्यादा ताकतवर है। यह मेटाबॉलिज्म का रेट भी बहुत तेज कर देता है। ट्रेनबोलोन इंजेक्शन और गोली दोनों की फॉर्म में आता है। इंजेक्शन की फॉर्म में इसकी तीन किस्में हैं। trenbolone Acetate, trenbolone Enanthate और trenbolone Hexahydobenzylcarbonate. हालांकि मैं आपको बता दूं कि इसका यूज मोटापा कम करने के लिए नहीं होता है। इसे लोग एडवांस स्टेज पर लेते हैं खासतौर पर एब्स निकालने के लिए।

Acetate बहुत पॉपुलर है। यह शॉर्ट ईस्टर है तेजी से असर करता है। इसलिए इसका इंजेक्शन हर दूसरे दिन लगाया जाता है। कुछ बॉडी बिल्डर रोज भी लगाते हैं। इसके साथ विंस्ट्रोल की जोड़ी सही मानी जाती है। एसिटेट का इंजेक्शन हर दिन या हर दूसरे दिन लगाते हैं इसलिए इसकी डोज 50 से 200 एमजी प्रति इंजेक्शन के बीच होती है। साइकिल 10 सप्ताह का होता है।

Enanthate एसिटेट से ज्यादा ताकतवर होता है मगर हैक्स से कम। यह लंबा ईस्टर है इसलिए सप्ताह में एक दिन इसका इंजेक्शन लगाया जाता है। इसके साथ आमतौर पर टेस्टोस्टेरोन इनेनथेट या साइपोनेट को चलाया जाता है। गोली कैप्सूल में इसके साथ एनावार (Anavar) चलती है। Enanthate आमतौर पर सप्ताह में एक बार लगाया जाता है और इसकी डोज 200 एमजी से लेकर 600 एमजी तक होती है। इसका साइकिल आमतौर पर 11 सप्ताह का होता है।

Hexahydobenzylcarbonate उर्फ ट्रेन हैक्स को जादूई कहा जाता था। यह सबसे फेमस इसलिए हैं क्योंकि यह ऊपर बताई गई दोनों किस्मों से ज्यादा ताकतवर है। यह लंबा ईस्टर वाला इंजेक्शन है और कहा जाता है कि शुरू के दो सप्ताह बाद ही लोग बेहतरीन परफॉर्मेंस करने लगते हैं। इसके साथ दूसरे स्टेराइड को चलाना थोड़ा सा पेंचीदा होता है। ज्यादातर बॉडी बिल्डर इसे कटिंग के लिए इस्तेमाल करते हैं। इसके साथ हर दूसरे दिन टेस्टोस्टेरोन प्रापिनेट और हर दूसरे सप्ताह टेस्टोस्टेरोन साइपोनेट चलाते हैं। इससे बॉडी में इनकी एक चेन बन जाती है।

डोज – ट्रेन हैक्स आमतौर पर सप्ताह में एक बार लगाया जाता है और इसकी डोज 200 एमजी से लेकर 600 एमजी तक होती है। इसका साइकिल आमतौर पर 11 सप्ताह का होता है।

साइड इफेक्ट

  1. पूरी तरह से नपुंसक हो जाना
  2. गुस्सा और चिड़चिड़ापन
  3. रात को सोते समय पसीने आना
  4. दौड़ भाग करने की ताकत कम हो जाना
  5. गहरे रंग का पेशाब
  6. बालों का गिरना
  7. औरतों जैसा सीना विकसित हो जाना
  8. लिवर और किडनी सहित अन्य अंगों पर खतरनाक प्रभाव
  9. खांसी, खराश होना और इंजेक्शन के बाद हल्की घुटन महसूस होना

याद रखें – मैं आपको केवल ये बता रहूा हूं कि लोग कि‍स तरह से इस स्टेरॉइड का मि‍सयूज कर रहे हैं। मैं आपको कहीं से भी इसे इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दे रहा। यह बेहद खतरनाक इंजेक्शन है और इसके गंभीर साइड इफेक्ट हैं।

Check Also

बाइसेप्स 16 इंच का कैसे बनाऊं

जिम, वर्कआउट, डाइट और वेट लॉस या वेट गेन को लेकर पूछे गए आपके सवालों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *