Home / STEROIDS / लीन बॉडी बनाने वाले 7 बेस्ट स्टेरॉइड के नाम और काम

लीन बॉडी बनाने वाले 7 बेस्ट स्टेरॉइड के नाम और काम

ये लेख उन लोगों के लिए है, जिनके बारे में मैं जानता हूं कि लाख मना करने के बावजूद वो आज नहीं तो कल स्टेरॉइड लेंगे। यहां हम लीन बॉडी बनाने वाले स्टेरॉइड lean body banane vale steroids के बारे में बात करने वाले है। आजकल इंतजार किसी से नहीं होता और फिर जिन तस्वीरों को देखकर हमारे मन में काश वाली फीलिंग आती है उनमें से 99% ने स्टेरॉइड लिया होता है। Lean Muscles बनाना टफ काम होता है, खासकर अगर आपकी उम्र 30 साल या उससे ऊपर है, क्योंकि मेटाबॉलिज्म की रफ्तार उम्र के साथ धीरे धीरे कम होती जाती है।

बिना स्टेरॉइड लिए आप एक हद तक लीन बॉडी बना सकते हैं, वो बॉडी देखने में अच्छी होती है और ऐसा शख्स सेहतमंद भी होता है, लेकिन अगर आप उस बॉडी के सपने देख रहे हैं जिसमें बॉडी की एक एक नस चमक रही हो तो यहा मेरा ये मानना है कि ऐसी बॉडी दवाओं से ही मुमकिन है। हो सकता है किसी ने बिना दवाओं के टॉप क्लास लीन बॉडी बना ली हो मगर मैं ऐसे केवल एक या दो लोगों ही जानता हूं बाकी सब आखिर में स्टेरॉइड का ही सहारा लेते हैं।

Lean body banane vale 7 steroids
लीन बॉडी बनाने वाले 7 स्टेरॉइड

कोई भी स्टेरॉइड इस मकसद से नहीं बनाया गया है कि उसे लीन बॉडी या लीन मसल्स के लिए यूज किया जाए। ये लाइफ सेविंग ड्रग्‍स हैं, जिनका यूज डॉक्‍टर से पूछे बिना नहीं किया जा सकता। बिना डॉक्‍टर की सलाह के इसे खरीदना और बेचना दोनों गैर कानूनी है। बॉडी बिल्डिंग में स्टेरॉइड का यूज दरअसल इसका मिसयूज है जो गैर कानूनी तरीके से किया जाता है।

how to make lean body
Lean Muscles बनाना टफ काम होता है, खासकर अगर आपकी उम्र 30 साल या उससे ऊपर है।

आपने एक बात गौर की होगी मैंने शुरू में एक लाइन लिखी है कि – बाकी सब आखिर में स्टेरॉइड का सहारा लेते हैं। आखिर का मतलब होता है कि हम अपनी पूरी कोशिशें कर चुके और अपनी बॉडी एक अच्छी स्‍टेज पर ले आए हैं। इसके बाद आखिरी हथियार के तौर पर इसका यूज किया जाता है। इसका ये मतलब कतई नहीं है कि खुद से आप कुछ कर ही नहीं पाए और सीधा कूद पड़े इंजेक्शन पर।

7. Dianabol डेनाबोल – इसे आम बोलचाल की भाषा में डीबोल भी कहते हैं। बेहद पॉपलुर स्टेरॉइड है और जो लोग पहली बार स्टेरॉइड लेते हैं वो आमतौर पर इसका यूज करते हैं। इसका इस्तेमाल गेनिंग के लिए होता है। इससे लीन मसल्स डायरेक्ट नहीं मिलते क्योंकि ये वेट गेन करती है। वेट गेन का मतलब ये हुआ कि बॉडी में लिक्विड भी जमा हो जाता है।

जो लोग डेना का यूज करते हैं उनका बॉडी फूली फूली रहती है क्योंकि इस दवा की वजह से बॉडी में वाटर रिटेंशन (water retention) बढ़ जाता है। हालांकि इस्तेमाल बंद करने के बाद बॉडी नॉर्मल हो जाती है मसल्स बने रहते हैं। प्रोफेशनल बॉडी बिल्डर lean gain में इसका यूज नहीं करते क्योंकि ये लंबा प्रोसेस है।

RELATED – लीन बॉडी में मदद करने वाले टॉप 10 फूड 

6. Anadrol एनाड्रोल – इस स्टेरॉइड का यूज करने से ब्‍लड में प्‍लाजमा टेस्टोसटेरोन का लेवल बढ़ जाता है। इससे तेजी से lean muscles बनते हैं। इसे भी बल्किंग स्टेरॉइड के तौर पर यूज किया जाता है। एनाड्रोल की एक खासियत ये भी होती है कि यह बॉडी में एस्ट्रोजेन (estrogen) का लेवल कम करता है, एस्ट्रोजेन फीमेल हार्मोन है और मर्दों के लिए ठीक नहीं है।

इसकी वजह से मर्दों की छाती भी औरतों के जैसी हो सकती है। एनाड्रोल के नतीजे कई बार बड़े नाटकीय होते हैं। कई बार तो महज दो सप्ताह में पांच किलो तक वजन बढ़ जाता है। बॉडी का साइज बहुत तेजी से बढ़ता है। हालांकि शरीर में पानी भी बहुत जमा हो जाता है और कुल वजन जो बढ़ता है उसमें पानी की भागीदारी भी होती है। स्ट्रेंथ भी बढ़ जाती है।

5. Testosterone टेस्टोसटेरोन – आम भाषा में इसे टेस्‍टा के नाम से पुकारा जाता है। यही वो बेसिक स्टेरॉइड है जिसकी नींव पर बाकी स्टेरॉइड्स तैयार होते हैं और उनकी काबीलियत व ताकत आंकी जाती है। टेस्टोसटेरोन इंसान के शरीर में खुद पैदा होता है। इसे मर्दाना हार्मोन कहते हैं। यही वो हार्मोन है जो मर्द को मर्द बनाता है। इसे यूज करने की सोच रहे हैं तो इसके साइड इफेक्ट जरूर जान लें।

ज्यादातर एनाबॉलिक एंड्रोजेनिक स्टेरॉइड्स इसी हार्मोन से बनते हैं, जिनका इस्तेमाल मसल्स और ताकत बढ़ाने के लिए किया जाता है। ये बल्किंग और कटिंग दोनों में यूज होता है। टेस्टोसटेरोन कई तरह का होता है जिनमें से चार खास हैं – 1. Testosteron cypionate 2. Testosteron Enanthate 3. Testosteron Propionate और 4. Testosteron Suspension.

4. Anavar एनावार – इसे शॉर्ट फॉर्म में एना के नाम से पुकारते हैं। एनावार (Anavar) सबसे सेफ स्टेरायड माना जाता है। इसकी सबसे बड़ी खसियत यह है कि एनावार लिवर के लिए उतना खतरनाक नहीं होता़, जितना बाकी स्टेरॉइड्स। यह कटिंग के दौरान बॉडी की कंडिशनिंग के काम आता है। थोड़ी ताकत भी बढ़ती है। रिकवरी बढ़ाता है और मेटाबॉलिक रेट को भी बढ़ाता है। ज्यादातर इसका इस्तेमाल पेट और आंतों वगैरा में जमा फैट को काटने के लिए किया जाता है।

इस स्टेरायड में बॉडी फैट और वजन को कम करने और कंट्रोल में रखने की गजब की कैपेसिटी है। ये मसल्स मास और स्ट्रेंथ को प्रमोट करना ओर वो भी शरीर में पानी जमा किए बिना। इसलिए ये लीन मसल्स को प्रमोट करता है। किसी भी स्टेराइड के इस्तेमाल के जो साइड इफेक्ट्स हैं वह एनावार के साथ कॉमन नहीं हैं। यही वजह है कि यह महिला बॉडी बिल्डरों और खिलाड़ियों की पहली पसंद है। महिलाएं इसे इसलिए इस्तेमाल करती हैं क्योंकि यह उनमें मर्दों जैसे लक्षण पैदा नहीं करता।

RELATED – लीन बॉडी के लिए वर्कआउट और डाइट चार्ट 

3 . Clenbuterol क्लीनब्यूट्रोल – बेहद पॉपुलर इस स्टेरॉइड को जिम की आम भाषा में क्‍लीन के नाम से जाना जाता है। Clenbuterol क्लीनब्यूट्रोल बॉडी बिल्डिंग की दुनिया में बहुत पॉपुलर नाम है। ये दवा अस्थमा के रोगियों के लिए बनाई गई थी पर आजकल यह दवा जानवरों को दी जाती है। इससे जानवर फैट फ्री मसल्स गेन करते हैं और मीट के कारोबार के लिए यह अच्छी चीज है। दुनिया के बहुत से देशों में इस पर बैन है। इसमे बॉडी में मौजूद फैट को कैलोरी में बदलने की ताकत होती है।

RELATED – Clenbuterol का बॉडी बिल्डिंग में यूज, डोज और साइड इफेक्ट

इसलिए बॉडी बिल्डिंग में इसका यूज कटिंग और lean gain के लिए होता है। क्लीनब्यूट्रोल इंसान का बेसल मेटाबॉलिक रेट बढ़ा देती है। यह कटिंग और गेनिंग दोनों को प्रमोट करती है। कुल मिलाकर फैट को खत्म करना और मसल्स मास को प्रमोट करना इसका काम है। इससे मसल्स लॉस कम होता है और बॉडी की एरोबिक कैपेसिटी बढ़ती है। इसके यूज से लोग बड़े मगर कसे हुए muscles हासिल करते हैं। हालांकि इस बात को लेकर अभी तक बहस चल रही है कि इसे स्टेरॉइड की कैटेगरी में रखना या आम ड्रग्स की कैटेगरी में। ये न तो पूरी तरह से सामान्‍य ड्रग्स है और न ही स्टेरॉइड।

2. Winstrol विंस्ट्रोल – ये बहुत फेमस एनबॉलिक स्टेराइड है। इसकी खोज 1950 में हुई थी। यह बाजार में सबसे ज्यादा winstrol और Stanozolol के नाम से बिकता है। बॉडी बिल्डिंग में इस्तेमाल होने वाले 32 स्टेरॉइड में से यह खिलाड़ियों में यह बहुत पॉपुलर है। यह बहुत तेज नहीं होता इसलिए इसे महिलाएं और पुरुष दोनों लेते हैं।

खिलाड़ी इसे परफार्मेंस सुधारने के लिए लेते हैं। इससे स्ट्रेंथ बढ़ती है, यह कटिंग और कंडिशनिंग के लिए बेहतरनी माना जाता है। मेटाबॉलिज्म को तेज करता है और मसल्स में सहने की ताकत बढ़ती है। बॉडी बिल्डिंग में इसका इस्तेमाल खासतौर पर कटिंग या फिर lean mass building के दौरान किया जाता है। कंप्टीशन से पहले इसे बॉडी बिल्डर इस्तेमाल करते हैं।

1. Trenbolone ट्रेनबोलोन – ये बेहद ताकतवर एनाबॉलिक स्टेराइड है। किसी भी और स्टेराइड के मुकाबले यह हरफनमौला है। वैज्ञानिक और रिसर्च करने वाले इस स्टेराइड का एनाबॉलिक और एंड्रोजेनिक स्कोर 500/500 देते हैं। जबकि टेस्टोस्टेरोन का स्कोर 100/100 है। टेस्टोस्टेरोन ही सभी अन्य स्टेराइड की तुलना करने के लिए बेस लाइन देता है। इसका मतलब ये हुआ कि ट्रेनबोलोन स्टेराइड टेस्टोस्टेरोन से 5 गुना ज्यादा ताकतवर है। इसकी डोज बहुत सोच समझकर बनाई जाती है।

यह दवा के रूप में इस्तेमाल नहीं होता। इसका इस्तेमाल आजकल बॉडी बिल्डिंग और स्पोर्ट्स में ही हो रहा है। यह lean gaining, कटिंग, कंडिशनिंग, ताकत और रिकवरी सबके लिए है। यह मेटाबॉलिज्म का रेट भी बहुत तेज कर देता है। ट्रेनबोलोन इंजेक्शन और गोली दोनों की फॉर्म में आता है। इसके इंजेक्शन तीन तरह के होते हैं – 1 trenbolone Acetate 2. trenbolone Enanthate 3. trenbolone Hexahydobenzylcarbonate.

BOTTOM LINE

ये बात सच है कि lean muscles बनाने में स्टेरॉइड्स का मिस यूज किया जाता है। हमने आपको इस लेख में लीन बॉडी बनाने वाले स्टेरॉइड lean body banane vale steroids के बारे में जानकारी दी है, इसका ये मतलब नहीं है कि हमने आपको इन्हें यूज करने की सलाह दी है। हम कभी भी किसी को भी स्टेरॉइड यूज करने की सलाह नहीं देते। ये बहुत खतरनाक होते हैं और इनसे किसी की जान तक जा सकती है। हमारी आपको ये सलाह है कि आप स्टेरॉइड के साइड इफेक्ट और पीसीटी यानी पोस्ट साइकिल थैरेपी के बारे में जरूर जान लें। अगर आपको प्रोफेशनल बॉडी बिल्डिंग में नहीं जाना तो इनसे दूर रहें।

Check Also

बॉडी बिल्डिंग की दुनिया में बहुत पॉपुलर नाम है Clenbuterol क्लीनब्‍यूट्रोल जिसे हम आमतौर पर Clen के नाम से पुकारते हैं।

Clenbuterol का बॉडी बिल्डिंग में यूज, डोज और साइड इफेक्ट

बॉडी बिल्डिंग की दुनिया में बहुत पॉपुलर नाम है Clenbuterol क्लीनब्यूट्रोल जिसे हम आमतौर पर ...

11 comments

  1. good story

  2. hlo sir mei ye janna chata hun ki 18 saal ke baad bhi height kis age tak badti hai sabhi kahte hai height 25 saal ki age tak badti hai toh please sir aap btaye height 18 saal ke baad bhi height kis age tak badti hai please

  3. mene 10 ml testosterone propionate or testosterone suspension lgaya h kya mujhe pct krne ki zarrort h

  4. jitendra Singh Rajput

    Hlo sir mera naam jitendra singh Rajput h m sir body binding m Jana jata hu m 1year s gym ja RHA hu BT koi fayda Ni ho RHA h sir meri age 23 year h meri night 168cm h or weight 58 h ESE Jada weight beta hi Ni h sir m d’boll Lena chata hu apki advice jata hu ki kaise ly janta hu sir ye ek striod h BT line k bad pct kra lunga ESE kaise ly or liv 52 k sath kaise ly ESE kiss phele ly or sir m dianabol k sath or kuch b chala skta hu kya sir plzzz reply de

    • आपका वजन बहुत कम है और आप 1 साल से जिम जाने के बावजूद कुछ खास नहीं कर पाए इसका मतलब ये है कि आपकी डाइट और कसरत दोनों में कमी है। ऐसा तो है नहीं कि आप डी बोल लेना शुरू कर देगी और वो आपको बॉडी बिल्डर बना देगी। स्टेरॉइड एडवांस स्टेज पर लोग यूज करते हैं वो जिन्‍हें ये पता होता कि कितनी डाइट रहेगी। मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि आापकी डाइट ठीक नहीं है। आप मेरी बात समझें आपको साइकिल चलाने भी नहीं आती और आप ट्रक लेकर निकलना चाहते हैं तो इसमें नुकसान ही नुकसान है। आप चाहें तो हमसे डाइट चार्ट और वर्कआउट शेड्यूल बनवा सकते हैं, हम आपको सही रास्‍ता बताएंगे जिसकी बदौलत आप बिना स्टेरॉइड एक स्टेज को पार कर लेंगे। इस लिंक को चेक करें- http://www.bodylab.in/2015/12/01/get-your-diet-chart-and-workout-schedule-in-hindi/

  5. sir mera weight 62kg hai aur height 5.9feet gym shru kiye 3 month ho chuke hai phle mera weight 53kg tha maine bhout fast weight gain kiya lekin muje lean body banani thi but ab mere undaar fat jada hai sir muje weight bhadana hai lkin lean body mai kaise badega weight with lean aur vegetarian bhi ho

    • कठिन है आपकी राह मेहनत करनी पड़ेगी। इतना आसान नहीं होता लीन गेन करना और वो भी शाकाहारी के लिए। मैं आपको प्रोफेशनल सलाह दे रहा हूं पहले गेनिंग करें फिर कटिंग करें। वरना जो आप करने जा रहे हैं उसमें आप कहीं के नहीं रह जाएंगे।

  6. सर् मैं 3 साल से जिम कर रहा हूँ मेरा पर्सनल ट्रेनर भी है मैं डाइट भी अच्छी लेता प्रोटीन सप्लीमेंट भी यूज़ कर लिया फिर भी बॉडी नही बन रही है मेरा उम्र 27 साल वजन 61 किलो बॉडी फैट 21% है
    सर् अब मैंने मुड़ बना लिया स्टेरॉयड यूज़ करने का सर् मुझे मेरे कैरियर बनाना है ये लाइन में में अब स्टेरॉयड उसे करना चाहता हूं सर् बताये में कहां से शुरुआत करूँ पहले कौन सा स्टेरॉयड यूज़ करूँ डैनबोल या कोई और सर् बताये प्लीज कितना mg par डे यूज़ करना है कब कब लेना है दिन में डाइट क्या होनी चाहिए और pct कब करवानी है प्लीजसर बताएं

    • या तो तुम अपने ट्रेनर की बात नहीं मानते या फिर तुम और तुम्हारा ट्रेनर बॉडी बिल्डिंग के बारे में पढ़ते नहीं हो। आप वजन है कुल 61 किलो यानी आप दिखतेे कैसे होंगे ये मुझे पता ही चल गया। जब आप पर्सनल ट्रेनर साथ लेकर भी बॉडी नहीं बना पा रहे तो इसका साफ मतलब ये है कि आप एक दो नहीं बहुत सारी गलतियां कर रहे हैं। इसके ऊपर अगर आपने स्टेरॉइड ले लिया तो गई आपकी किडनी, लिवर और बाकी का सामान। किस दुनिया में हो आप आपको क्या लगता है कि स्टेरॉइड ले लेंगे तो रात को खाएंगे और सुबह बॉडी बिल्डर बन जाएंगे। डाइट सही नहीं होगी तो बॉडी कैसे बनेगी। दूसरी बात ये कि अभी शुरुआत में ही स्टेरॉइड यूज कर लेंगे तो आगे बॉडी स्टेरॉइड लेने लायक रह जाएगी क्या। मेरे भाई हर चीज का एक वक्त होता हैै। अभी आपकी डाइट पूछ लुंगा तो आप उतने अंडे भी नहीं खाते होंगे, जितने लोग ये चेक करने में खा जाते हैं कि अंडे उबल गये या नहीं। प्रमोद पाल जी एक डाइट चार्ट और वर्कआउट शेड्यूल बनाव लीजिए। स्टेरॉइड लेने का वक्त अभी नहीं आया है आपका मन हो तो इस लेख को चेक करें – http://www.bodylab.in/2015/12/01/get-your-diet-chart-and-workout-schedule-in-hindi/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *