Breaking News
Home / BODY BUILDING / 5 पहचान आपका जिम कोच अच्छा नहीं है

5 पहचान आपका जिम कोच अच्छा नहीं है

जरूरी नहीं कि बॉडी बना लेने वाला हर शख्स सचमुच में बॉडी बनाने के बारे में जानता हो। ऐसे लोग जो कुछ भी खा पीकर या कुछ भी लगाकर जैसे तैसे एक बड़ी सी बॉडी हासिल कर लेते है, कोचिंग के लिहाज से बड़े ही खराब होते हैं। उन्हें केवल वही रास्ता पता होता है जिसपर वो खुद चलें हों या उनके गुरु जी ने चलवाया हो। कोच का पढ़ा लिखा होना बेहद जरूरी है। उसे मसल्स का साइंस पता होना चाहिए। नई रिसर्च के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

कोच को ये पता होना चाहिए कि बिगनर, मिड लेवल और एक्सपर्ट के कसरत करने के तौर तरीके क्या हैं। वो स्टेरॉइड को भगवान न मानता हो। बिना कोच के कसरत करना एक अज्ञानी कोच के साथ कोचिंग करने से ज्यादा बेहतर है। हम कुछ निशानियां बता रहे हैं, जिनकी बदौलत आप ये समझ पाएंगे कि आपके गुरुजी अज्ञानी हैं या फिर उन्हें सिर्फ नोट छापने की परवाह है।

गलत कोच की 5 पहचान

1 वो सपलीमेंट पर जोर देते हैं – जैसे ही आप पूछते हैं कि बॉडी कैसे बनेगी वो आपको कोई न कोई सपलीमेंट लेने की सलाह दे डालते हैं। डिब्बे से बस डिब्बे बनते हैं बॉडी नहीं। बॉडी हमेशा डाइट से बनती है और जब प्रोटीन की रिक्वायरमेंट इतनी हो जाए कि बिना सपलीमेंट पूरी न हो पा रही हो तब आपको सपलीमेंट खरीद लेना चाहिए।

एक 60 किलो का शख्स अगर वेट बढ़ाना चाहता है तो उसे दिन में सिर्फ 60 से 90 ग्राम प्रोटीन की जरूरत है। गेनिंग तो 60 ग्राम प्रोटीन पर ही शुरू हो जाएगी। इतना प्रोटीन बड़े ही आराम से डाइट से जुटाया जा सकता है। सपलीमेंट बेचने में कोच साहब को फायदा होता है और इसीलिए वो बच्‍चों को ये नहीं बताते कि बिना सपलीमेंट के भी उतने ही टाइम में बॉडी बन सकती है।

2 वो आपको खूब वार्म अप कराते हैं – बहुत से जिमों के कोच बच्चों को खूब वार्मअप कराते हैं। उन्‍हें रनिंग वगैरा जैसी खूब कार्डियो कराते हैं ताकि बॉडी गर्म हो जाए और फिर वेट ट्रेनिंग शुरू करने का नंबर आता है। ये है दूसरी पहचान। वार्म अप का मकसद होता है आपको इंजरी से बचाना मगर इसका ये मतलब कतई नहीं है कि वार्म अप के नाम पर आपकी एनर्जी का लॉस हो। ढेर सारा कार्डियो करने के बाद वेट ट्रेनिंग की इफेक्टिवनेस कम हो जाती है। एनर्जी को बचाकर रखें हार्ड कोर वेट ट्रेनिंग के लिए। वार्म अप दो चार मिनट का होता है।

3 पेट कम कराने के लिए खूब क्रंचेस कराते हैं – अगर किसी जिम में आपको मोटे लोग ढेर सारे अलग अलग तरह के क्रंचेस करते दिखें तो समझ जाएं कि कोच साहब का गणित ठीक नहीं है। मोटा पेट क्रंचेस से नहीं जाता। मोटे लोगों के लिए क्रंचेस टाइम पास कसरत है। ये उन लोगों के बहुत काम की है जो लोग एब्स बनाने के नजदीक हों।

मोटा पेट जाता है वेट ट्रेनिंग, कार्डियो और फंक्‍शन फिटनेस की कसरतों से। जहां मोटे लोग माउंटेन क्‍लाबंर, हैवी वेट ट्रेनिंग, कैटल बैल स्विंग, बॉक्स जंप, प्लैंक और ऐसी ही फंक्शनल फिटनेस वाली कसरतें करते दिखें वहां के कोच को जानकारी है ऐसा आप मान सकते हैं।

4 हैवी वेट पर जोर देते हैं – अगर आपके कोच साहब आपको ये कहते हैं हैवी से हैवी वेट मारने से ही बॉडी बनेगी तो समझ लीजिए कि उन्‍हें अभी थोड़ा और पढ़ने की जरूरत है। हमेशा हैवी वेट मारना गलत है। इससे ग्रोथ की रफ्तार कम होती है। हैवी और लाइट वेट का कॉम्बिनेशन सबसे सही होता है।

ये बात सही है कि मसल्स बनाने के लिए या गेनिंग के लिए हैवी वेट और 6 से 12 के बीच रैप रेंज सही मानी जाती है मगर इसका मतलब ये नहीं है कि लाइट वेट किसी काम का ही नहीं रह जाता। जिम में आने वाले नए बच्‍चों को धीरे धीरे ट्रेन करना चाहिए उनके मन में ये बात कभी नहीं डालनी चाहिए कि जितना वेट कोई पुराना शख्स उठा रहा है आपको भी उतना उठाना होगा। हर लेवल की वेट ट्रेनिंग अलग अलग होती है।

5 स्पॉट रिडक्शन में यकीन करता है – जो कोच ये कहता है कि वह किसी एक जगह का फैट अलग से घटा देगा वो अज्ञानी है। स्पॉट रिडक्शन जैसी कोई चीज नहीं होती। इस बात को मैं एक उदाहरण के तौर पर समझाता हूं। एक लड़की जिम में जाती है और कोच से कहती है – बाकी सब तो ठीक है पर मुझे बस ये जो पेट के साइड वाला फैट है बस यही कम करना है। कैसे कम होगा। अब इस सवाल का जवाब एक अज्ञानी और एक ज्ञानी कोच की जुबान से सुनें।

अज्ञानी कोच – हां, ये वाला हिस्सा कम हो जाएगा आपको रोज साइड्स की कसरते करनी होंगी। कुछ दिन में ये कट जाएगा।

ज्ञानी कोच – जब फैट जाएगा तो पूरी बॉडी से जाएगा। किसी एक जगह का फैट चला जाए और दूसरी जगह का बना रहे ऐसा नहीं होता। आपको पूरी बॉडी पर वर्क करना होगा उसी के साथ ये फैट जाएगा।

Check Also

आप गेनिंग कर रहे हों या कटिंग या फिर फिट रहना चाहते हों Crossfit हर सीजन हर मकसद के लिए बेहद उम्दा कसरत है।

क्रॉसफिट ट्रेनिंग के फायदे और उसका शेड्यूल

आप गेनिंग कर रहे हों या कटिंग या फिर फिट रहना चाहते हों Crossfit हर ...

18 comments

  1. BILKUL SAHI KHA SIR JI

  2. Good morning………
    Good information, thank you sir

  3. Hello sir my name is ajay vishwakarma sir मे रोज़ एक कटोरीमूंगफली चना मूंग इन तीनो को रात को गलाकर सुबह एक गिलास मिल्क पीने के आधा धंटे बाद खता हु ! इससे मुझे कितना प्रोटीन मिलेगा

    • ऐसे तो पता नहीं चलेगा ना कि आप असर मेंं खाते कितना हैं। कितने ग्राम कौन सा प्रोडक्‍ट है ये पता होगा तभी तो प्रोटीन कैलकुलेट होगा 100 ग्राम मूंगफली में करीब 27 ग्राम, 100 ग्राम चने में करीब 14 ग्राम और 100 ग्राम मूंग मेंं करीब 25 ग्राम प्रोटीन होता है। इसी हिसाब से आप कैलकुलेशन कर सकते हैं।

  4. सर अपने calves का आर्टिकल(artical) डाला था वो अब दिख नहीं रहा है।।।

  5. Dear sir.
    Mai Daily Gym jata Hu Achi Body Ban Gayi Hai
    and Mai weeek me 2 Baar Bear Pita hu

    3 Liter . kabhi Ise Jada.

    Main Point..
    Meri suppliment Shuru hai

    1- Whey Protin
    2- Creatine
    .
    Ye Drink Ke karan kuch Probalm
    Ho Sakta hai kya sir.!!

    Bata do Muje To Kuch Fill Nahi hota Ki kamjori etc Ekdam fit Hu.
    Fir Bhi ek Salhaaa de De Ap.

    • बियर को लेकर परेशान होने की कोई बात नहीं। आप व्हे प्रोटीन लेना चाहें तो ले सकते हैं। अगर वेजेटेरियन हैं तो क्रेटीन के बार में सोच सकते हैं वैसे यह कोई बहुत जरूरी सपलीमेंट नहीं होता।

  6. hai sir i am vasim khan from ujjain
    meri age 30 he hight 5.11 wt 75 kg
    mera workout plan
    mon. chest
    tus . triceps
    wed. wings and abs
    thu. sholder
    fri . biceps
    sat. legs And abs
    mere biceps ka size 15 in. he
    plz mujhe bataen size gain karoon ya lean muslce per dhyan doon
    mujhe mussculerty and size dono chahiye
    whey protine isolate loon ya maas gainer loon plz sir mujhe aapki salah dijiye
    thanks
    vasim khan

    • हाइट के हिसाब से आपका साइज अभी कुछ खास नहीं है। इस हाइट में कटिंग में आपका बाइसेप्स का साइज 17 होगा तो आप सही लगेंगे। फैट के साथ आपका वेट इस हाइट पर 18 या उससे ऊपर रहना चाहिए। सही तरीका ये होता है कि पहले आप जितना वेट चाहते हैं उससे पांच दस किलो ज्यादा ले जाएं। इसके बाद कटिंग शुरू करें। बॉडी उसी तरह तराशी जाती है जैसे पत्थर से मूर्ति। आपका वेट 75 किलो है जो इतना कम भी नहीं है। इसलिए अब आप व्हे प्रोटीन यूज करें, आइसोलेट लेने की जरूरत नहीं है वो कटिंग के टाइम पर चलाएंगे। बढि़या से साइज गेन करें हां कोशिश करेंं कि पेट थोड़ा कंट्रोल में रहे। इसके बाद कटिंग करें। और हां आपके वर्कआउट में एक गलती ये है कि आप बाइसेप्स और ट्राइसेप्स को ओवरट्रेन कर रहे हैं। उसके लिए एक दिन काफी है, छोटा मसल ग्रुप है। अगर मूड हो तो आप हमने भी डाइट चार्ट और वर्कआउट शेड्यूल बनवा सकते हैं। वैसे ये जरूरी नहीं है आप हमसे जब चाहे तब सलाह ले सकते हैं। अगर डाइट चार्ट या वर्कआउट शेड्यूल बनवाना होता तो ये लिंक चेक करें – http://www.bodylab.in/2015/12/01/get-your-diet-chart-and-workout-schedule-in-hindi/

  7. Sir mai ne avi avi join kiya hi gym…. Mera pet v thoda badha hua hi…meri height hi 5.8″°°n weight hi 62 kg… Pl z kuch btaayiye sir ki Pehle mai gym m kya kru… Mix kru ya set practice

  8. Sir mere do swal h plzz sir ans jrur dena plzz 1. Sir mene suna h ki ek meal m hum 30 – 40 gm protien consum kar sakte isse jyada lenge to hmara meal wast jayega ? 2. Bodybuilding m coconut oil ka kya roll h or or muscle building time m coconut oil ki kya dosage honi chahiye?? Plzz sirr ans jrur dena

  9. सर क्या पतंजलि के प्रोडक्ट्स used करके बॉडी बनाये जा सकती है । और वो कौन से प्रोडक्ट्स है जो used कर सकते है।

    • सर पतंजलि बॉडी बिल्डिंग से जुड़ा तो कोई प्रोडक्ट शायद नहीं बेचती।

  10. Hello sir mera naam Satyam hai….
    Mera age 21 year hai.
    Height 5.10 inch hai.
    Weight 84 kg…
    Biceps16.5….
    Mere liye kaun sa supplement best hoga aur body cutting ka routine kya hona chahiye

    • व्हे प्रोटीन यूज करें किसी भी बड़ी कंपनी का। जिम जाएं। करीब डेढ़ घंटे कसरत करें। एक पार्ट की चार से छह कसरतें करें। रैप 15 से 8 तक रखें। कभी कभी कम रैप वाली हैवी ट्रेनिंग भी करें। आपको कुल मिलाकर फैट कम करना है और मसल्‍स बनाने हैं। जहां तक हो सके गर्म पानी पिया करें। रात को सोते समय जरूर एक बड़ा कप गर्म पानी पिएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *