Home / HEALTH NEWS / महि‍ला का बीपी बता देगा कि‍ वो लड़की को जन्म  देगी या लड़के को

महि‍ला का बीपी बता देगा कि‍ वो लड़की को जन्म  देगी या लड़के को

वैज्ञानि‍क भी क्या क्या खोज नि‍कालते हैं। हाल ही में कनाडा में हुई एक रि‍सर्च के बाद दावा कि‍या गया है कि‍ कोई महि‍ला बेटे या जन्म देगी या बेटी को ये उसके प्रेगनेंट होने से पहले के ब्लड प्रेशर से पता चल सकता है। यह रि‍सर्च कनाडा के माउंट सि‍नाई अस्पताल में डॉक्टर रवि‍ रत्नाकर की देखरेख में की गई। स्टडी के मुताबि‍क, प्रेगनेंट होने से पहले के दि‍नों में अगर कि‍सी महि‍ला का बीपी आमतौर पर लो रहता है तो उसको बेटी पैदा होने की पॉसीबि‍लि‍टी होती है और अगर महि‍ला का बीपी ज्यादा रहता है उसको लड़का पैदा होने की पॉसीबि‍लि‍टी ज्यादा होती है।

रत्नाकर का कहना है कि‍ इस स्‍टडी से जो नतीजे मि‍ले हैं उससे हमें दो फायदे होंगे। पहला तो ये कि‍ इससे में प्लान कर पाएंगे और दूसरा हमें यह समझने में मदद मि‍लेगी कि‍ गर्भ में लड़का या लड़की के तय होने की प्रोसेस का मैकेनि‍ज्‍म क्‍या है। इसमें रि‍सर्च करने वालों ने ऐसी यंग महि‍लाओं को शामि‍ल कि‍या जो कंसीव करने की प्‍लानिंग कर रही थीं। रि‍सर्च में इन महि‍लाओं की हेल्थ और उनके बच्चे के जेंडर के बीच क्या रिश्ता है उसको खोजने की कोशि‍श की गई।

मेडि‍कल असेसमेंट के बाद उन्‍हें स्‍टडी के लि‍ए चुना गया तो उनके प्रेगनेंट होने व डि‍लीवरी तक उनकी रेगुलर जांच की गई। यह स्‍टडी सन 2009 में शुरू की गई थी। इसमें कुल 3375 महि‍लाओं को शामि‍ल कि‍या गया। इसमें से 1692 के बीपी, कॉलेस्‍ट्रॉल और ग्‍लूकोज लेवल पर अलग से नजर रखनी शुरू हुई। फि‍र कुछ कारणों की वजह से 281 महि‍लाओं को इस स्‍टडी से अलग कर दि‍या और कुल 1411 महि‍लाओं पर स्‍टडी चलती रही। इन महि‍लाओं ने 739 लड़कों और 672 लड़कों को जन्‍म दि‍या।

इसके बाद उनकी मेडि‍कल रि‍पोर्ट का उनके बच्‍चे के जेंडर के साथ मि‍लान कि‍या गया। जि‍सके बाद यह बात सामने आई कि‍ जि‍नका बीपी हाई था उन्‍होंने आगे चलकर बेटे को जन्‍म दि‍या और जि‍नका बीपी कम था उन्‍होंने बेटी को जन्म दि‍या। यह रि‍सर्च अमेरि‍कन जरनल ऑफ हाइपरटैंशन में छपी है।

अभी इस स्टडी पर काफी काम होना बाकी है। हमारी सोसाइटी में यह टॉपि‍क पीढ़ि‍यों से चला आ रहा है और लोग लड़का या लड़की पैदा करने की तरकीबें बताते चले आ रहे हैं। यह बेहद एडवांस स्टडी है और इसका मकसद लोगों को लड़का या लड़की पैदा करने की तरकीब बताना नहीं है।

हालांकि भारत में ऐसे टोटके बताने वालों की कभी कमी नहीं रही। हाल ही में अगर आपने दंगल फि‍ल्‍म देखी हो तो आमि‍र खान को गांव के बड़े बूढ़े, पंडि‍त, बाबा सभी लोग लड़का पैदा करने के नुस्‍खे बताते दि‍खाए गए हैं। यही नहीं उनकी पत्नी का रोल कर रही साक्षी तंवर को भी एक महि‍ला ये सलाह देती दि‍खाई गई है कि‍ चांदनी रात में, रोटी पकाकर, सूरज नि‍कलने से पहले काली गाय को खि‍ला देना वगैरा वगैरा। भारत में प्रेगनेंट महि‍ला के भ्रूण की जांच करवाना गैर कानूनी है और ऐसा करने पर सजा का प्रोवीजन है। घटते लड़का लड़की अनुपात को कंट्रोल में करने के लि‍ए सरकार ने यह कानून बनाया है।

Check Also

रायपुर के संजू को जीत की बधाई, टीम Bodylab को भेजा ये मैसेज

हेलो दोस्तो मैं हूं संजू साहू मैं रायपुर छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूं। मैंने हाल ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *