पेट में गैस और एसिडिटी दूर करने के 10 घरेलू इलाज

पेट जब गैस का चैंबर बन जाता है तो दिमाग की दही हो जाती है और मूड की ऐसी तैसी। ऐसी प्रॉब्लम खड़ी हो जाती है कि न तो किसी को बता सकते हैं और ना ही किसी से छुपा सकते हैं। चुपके से भी बाहर आयेगी तो आसपास खड़े हर किसी को पता चल जायेगी। पेट में एसिडिटी (acidity) और गैस (pet me gas) की परेशानी से परेशान होने की बस यही वजह नहीं है। कोई आपको भला समझे या बुरा ये तो बाद ही बात है मगर इससे हमारे डाइजेशन सिस्टम पर बहुत बुरा असर पड़ता है। इस लेख में हम आपको pet me gas or acidity dur karne ke gharlu ilag पेट में गैस और एसिडिटी दूर करने के 10 घरेलू इलाज बता रहे हैं

 

पेट में गैस बनने के कारण/pet me gas banane ke karan

आयुर्वेद की भाषा में बात करें तो मंदाग्नि की वजह से जो रोग पैदा होते हैं उनमें सबसे भयंकर होता है Gas बनने का रोग। मंदाग्नि का मोटे तौर पर मतलब होता है डाइजेशन के लिए जरूरी एंजाइम्स का कम पड़ जाना और उसके चलते खाने का ठीक से हजम न होना। इसके पीछे भी कई बातें हैं। एक तो कुछ मौसम ऐसे होते हैं जिनमें हमारी Digestion power नेचुरली कम हो जाती है। उसके अलावा कमजोरी, कसरत वगैरा न करने की वजह से भी ये परेशानी पैदा होती है। पेट में गैस बनने की दूसरी वजह है बेमौसम और बेमेल का खानापान। अगर आप मौसम के हिसाब से नहीं खायेंगे तो यकीन जानें इसकी वजह से प्रॉब्लम तो पैदा होगी ही। मौसम बदलता है तो मसाले भी बदलते हैं, मगर हम आजकल ऐसा नहीं करते। हम सारे साल एक जैसा पकाते और खाते रहते हैं। इससे पैदा होती हैं पेट की परेशानियां जिनमें सबसे प्रॉमिनेंट होती है Acidity।

pet mein gas or acidity banane ka karan or uska gharelu ilaj
agar aapko acidity or gas ki problem ka ilaj karna hai to mausam ke hisab se khane pine ki adat dal lain

बहुत देर तक पेशाब, छींक, आंसू, डकार, प्यास या उल्टी को रोकने से भी गैस बनने लग जाती है। इसके अलावा डर, टेंशन, दुख और गुस्से के चलते भी एसिडिटी हो जाती है। बहरहाल गैस किसी भी वजह से पैदा हुई हो मगर एक बार हो गई तो परेशान बहुत करती है। दवा खाने का ऑप्शन तो आपके पास हमेशा खुला है मगद दवाओं के अपने साइड इफेक्ट होते हैं ये भी आप जानते हैं। और वैसे भी जिनको अक्सर एसिडिटी की प्रॉब्लम (acidity ki problem) हो उनके लिये तो घरेलू इलाज ही ठीक रहता है क्योंकि इनसे लंबा आराम और परमानेंट इलाज मिलता है।

 एसिडिटी और गैस का इलाज/ acidity or gas ka ilaj

  1. खाना खाने के बाद करीब सौ ग्राम छाछ या मट्ठे में 2 ग्राम अजवायन और एक चुटकी काला नमक मिलाकर पीने से गैस बनना बंद हो जाती है।
  2. अलसी/तीसी के पत्तों की सब्जी बनाकर खाने से Gas ki problem दूर हो जाती है।
  3. दो ग्राम अजवायन को आधा ग्राम नमक के साथ चबाकर खायें। अगर acidity के चलते पेट दर्द हो रहा है तो वो भी ठीक हो जायेगा।
  4. वैसे गैस से जुड़ी सभी दिक्कतों में हिंगाष्टक चूर्ण बहुत फायदा करता है। खाना खाने के बाद जरा सा चूर्ण पानी के साथ लें। ये गैस की प्राब्लम को पूरी तरह से खत्म कर देता है।
  5. गैस परेशान कर रही है तो एक लहसुन की फांक, चार मुनक्के के साथ चबाकर निगल जायें। मुनक्के के बीज निकाल कर यूज करें। गैस तुरंत बाहर निकल जायेगी।
  6. अगर आपको आमतौर पर यह परेशानी रहती है तो आंटे को बिना छाने इस्तेमाल किया करें।
  7. खाने के बाद छाछ के साथ ईसबगोल की भूसी पीने से गैस की प्रॉब्लम खत्म हो जाती है।
  8.  pet me gas की वजह से गुड़ गुड़ हो रही हो उसे शांत करने के लिये एक कप संतरे के रस में थोड़ा भुना हुआ जीरा और सेंधा नमक मिलाकर पियें तुरंत राहत मिलेगी। एक चम्मच अजवायन में चौथाई चम्मच नींबू का रस मिलाकर पियें, गैस से तुरंत राहत मिल जायेगी।
  9. अगर दिक्कत दिनभर बनी रहती है तो दिन में दो से तीन बार जरा से अदरक के रस में उतना ही शहद मिलाकर पीना चाहिये।
    खाना खाने से पहले एक छोटा टुकड़ा अदरक सेंधा नमक के साथ चबा चबाकर खायें। इससे भूख भी खुलकर लगेगी। खाना खाने के बाद भुने हुए पिसे हुए जीरे में जरा सा सेंधा नमक मिलाकर खा लेने से गैस की दिक्कत नहीं होती और खाना भी ठीक से Digest हो जाता है। आप किसी शीशी में जीरा पीसकर और उसमें काला नमक मिलाकर रख लें। जब भी खाना खायें उसे साथ रखें और खाना खत्म होने के बाद थोड़ी सा ये चूरन लेकर उसकी एक घूंट पानी के साथ उसे निगल जायें। खाना खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए इसलिए बस एक दो घूंट की पानी ही पियें।
  10. अगर आपके पास उम्दा किस्म की हींग है तो उसे पीसकर रुई के फाहे पर रखकर नाभि पर रखें। इससे पेट में बन रही गैस (pet me ban rahi gas) निकल जायेगी और एसिडिटी (acidity) दूर हो जायेगी। अगर गैस की वजह से दर्द हो रहा है तो वो भी ठीक हो जायेगा।

Acidity का दूसरा पहलू ये भी है कि ठीक से डाइजेशन न होने के चलते ही ये प्रॉब्लम खड़ी होती है। कहने का मतलब डाइजेशन खराब तो गैस बनेगी और गैस बनेगी तो डाइजेशन और खराब होगा यानी डबल ट्रबल। पेट में गैस के चलते कई तरह की बीमारियां भी पकड़ लेती हैं। जिन लोगों को हड्डियों की कोई दिक्कत है उनकी परेशान एसिडिटी के चलते और बढ़ जाती है। जो लोग किसी बीमारी की दवा खा रहे हैं उनके पेट में gas नहीं बननी चाहिये।

अगर आपको एसिडिटी और गैस की प्रॉब्लम (acidity or gas ki problem) का परमानेंट इलाज चाहिए तो मौसम के हिसाब से खाने पीने की आदत डालें। अगर कभी भी कुछ भी खा पी लेने की आदत आपने नहीं छोड़ी तो बीमारियों से दोस्ताना मजबूत होता जायेगा। अगर आपका पेट ठीक है तो आप ठीक हैं और पेट बिगड़ गया तो कई बीमारियां पैदा हो जायेंगी। अपने खाने में fiber बढ़ायेंगे तो आपकी खाना पचाने की ताकत बढ़ जायेगी। फाइबर आंतों की सफाई के काम आता है इससे पेट ठीक से साफ हो जाता है। अगर पेट ठीक से साफ होगा तो gas भी कम बनेगी। एक बात और याद रखें कि पेट साफ करने के लिये बारबार लैक्सेटिव का इस्तेमाल न करें। अगर ऐसा करेंगे तो ये आपकी आदत बन जायेगी और बिना लैक्सेटिव के आप पूरी तरह से फ्रेश नहीं हो पायेंगे। हमने आपको pet me gas or acidity dur karne ke gharlu ilag पेट में गैस और एसिडिटी दूर करने के कारण और घरेलू इलाज बताए हैं। आपको इनमें से भी जो भी सूट करे उसे अपनाएं।

loading…


Check Also

हम यहां मोटापा दूर करने से जुड़े हर तरीके और हर नुस्खे की बात करने वाले हैं।

60 दिन में मोटापा और पेट कैसे कम करें

आधी दुनिया इसी सवाल का जवाब ढूंढ रही है कि मोटापा कैसे कम करें motapa ...

6 comments

  1. Sir I am a martial artist toh kya me muscles build kr sakta hun.

  2. shujat ali zaidi

    Sir mai 1 month se gym kr rha hu mera weight 74 kg hai mene ab synthe6 brand ka whey protein lena shuru kia h is protein mai 22gm protein hai ek scoop mai sir mai 1 scoop se thoda zyada protein leta hu subah workout ke baad sir kia mai sahi value mai protein lera hu or sir mai din mai 10 white egg leta hu 5 subah nd 5 sham mai and sir bnana shake bhi two times leta hu sir mjhe phle kidney mai stone thi 1 saal phle sir mene laser opression kraya tha is kly or sir mai sath mai ab himalaya liv. 52 Ds vi lera hu safety ke liye kia sir mai shi value mai protein le rha hu ya mjhe kia krna chaiyh or sir mjhe thori digestive mai problem hai kia krna chaiyh sir mjhe plsss reply sir

    • डाइट तो आपकी ठीक है। आप चाहें तो हाजमे की कोई दवा या सिरप ले सकते हैं। उम्‍मीद कर रहा हूं कि आपकी डाइट में सलाह वगैरा भी होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *