Breaking News

5 मिनट में फिट हो जायेंगे इस यौगिग एक्‍सरसाइज से

बस पांच मिनट दीजिए और आपके शरीर का हर अंग तरोताजा हो जाएगा। हम आपको आज ऐसा मूव बताएंगे कि पूरे बदने से चटचट और आपके मुंह से आह ऊह की आवाजें निकल जाएंगी। यह मूव उन लोगों के लिए है जो बेचारे वक्त के मारे हैं।
हमने इसे न बनाया है न खोजा है। ये तो योग से लिया है। यौगिग सूक्ष्म व्यायाम की लिस्ट में इसका नाम सबसे ऊपर है। कहते हैं सर्वांगपुष्टि इसका मतलब हुआ हर अंग को मजबूत बनाना। इसे करके देखें, मजा आ जाएगा। तो शुरू करें सर्वांगपुष्टि। हां अगर आप बिना जिम जाये घर पर ही जिम जैसी बॉडी बनाना चाहते हैं तो ये जानकारी आपको घर पर बॉडी कैसे बनायें जानें सभी उपाय में मिल जायेगी। 

यह पूरे चक्र की तरह से होता है। एक तरफ नाक लगाने के बाद हाथ बदल देना होता है।
यह पूरे चक्र की तरह से होता है। एक तरफ नाक लगाने के बाद हाथ बदल देना होता है।

1 पैर दो से ढाई फुट खोलकर खड़े हो जाएं। ध्यान रखें कि पंजे सामने की ओर सीधे रहेंगे तिरछे कतई नहीं।
2 दोनों हाथों को ऊपर उठाएं और दाहिने हाथ की कलाई को पीछे की ओर से बाएं हाथ से कसकर पकड़ लें। अब ध्यान रखें कमर से नीचे के हिस्से में कोई मूवमेंट नहीं होनी है। सांस भरते हुए हल्का सा पीछे की ओर झुकें, फिर बाईं ओर घूमें (ध्यान रखें पैर वहीं रहेंगे सिर्फ कमर से घूमें) और घड़ी की सुई की तरह अपने हाथ बारह से छह तक ले आएं। आपके हाथ बाएं पैर की पिंडली की ओर छू जाएंगे और नाक घुटने पर लगेगी।

3 यहां सांस छोड़ें और कलाई बदल लें। अब यहीं से सांस भरते हुए हाथों को उठाएं और घड़ी की सुई की तरह छह से छह तक चक्र पूरा करें। बस थोड़ा सा पीछे की ओर झुकते हुए चक्र को पूरा करना है। हाथों को दाएं पैर की पिंडलियों तक ले आएं। नाक को घुटने से झुआएं।
4 यहां फिर सांस छोड़ें और हाथ बदलकर इसी तरह से दोहराएं। अगर आपने दाएं हाथ की कलाई को बाएं हाथ से पकड़ा है तो आप बाईं ओर झुकेंगे और जब बाएं हाथ की कलाई को दाएं हाथ से पकड़ेंगे तो दाईं ओर जाएंगे।
5 यह पूरी मूवमेंट एक चक्र की तरह से होगी। इसमें सांस का खास ध्यान रखना है।
6 किसी भी सूरत में घुटने नहीं मुड़ेंगे और जिस ओर भी झुकें उस ओर नाक को घुटने से लगाने की कोशिश करेंगे।
7 यह कसरत करते करते समझ में आएगी। हाथों को ऊपर की ओर खींचकर रखें और हो सके तो कानों से टच करके रखें।
8 आप जिस ओर भी जाएंगे आपकी बॉडी हल्की सी तिरछी होगी, होनें दें। कमर के ऊपर का भाग तिरछा भी होगा और पीछे की ओर झुकेगा भी मगर आपके पैर वहीं पर जमे रहेंगे न तो घुटने मुड़ेंगे और न ही पैर किसी ओर घूमेंगे।
9 जितनी बार कर सकते हैं करें और फिर थोड़ा सा रेस्ट लेकर फिर कर सकते हैं तो करें। जब आप नीचे झुकेंगे तब सांस छोड़ेंगे और वहीं से सांस भरते हुए उठना शुरू करें और दूसरी तरफ जाकर सांस छोड़ें।
10 इसे करने के बाद एक मिनट का शवासन करें और अपना दिन शुरू करें।

कृपया इस बात का ध्यान रखें कि यह मूव बॉडी को वार्म अप करने के लिए व उसके कड़े पन को दूर करने के लिए है। अगर आप ये सोचें कि बस इसे करने से कसरत होगी तो ये गलत होगा। यह पूरी कसरत नहीं है। हां इतना है कि कुछ न करने से तो यही ठीक।

Check Also

yoga hindi

अर्ध हलासन कैसें करें और क्‍या हैं इसके लाभ

हर आसन हर शख्‍स नहीं कर सकता। उम्र, अभ्‍यास और अन्‍य कई चीजें होती हैं, ...

4 comments

  1. Sair,main 5 saal se kasrat kar raha hu but kuch fark najar nahi aa raha.Palice kuch tips bataiye

    • अच्छे सपलीमेंट लें। कोच बदलें, जिम बदलें, कसरत के दिन बदलें, कसरत करने के तौर तरीके बदलें। कसरत की गिनती अगर 5 या छह है तो उसे 8 तक ले जाएं। जिस भी बॉडी पार्ट की कसरत करें उसमें कंपाउंट सेट लगाएं। अगर आठ सेट लगाने हैं दो कसरतें साथ साथ चलाएं। एक-एक सेट का जोड़ा बनाकर। आप प्री वर्कआउट, व्हे प्रोटीन और ग्लूटामिन यूज कर सकते हैं। एल आर्जिनाइन के बारे में भी सोचें और हिमालया की गोक्शुरा भी ट्राई कर सकते हैं। हम ये मानकर चल रहे हैं कि आपको कोई बीमारी नहीं है।

  2. I require diet Chart for diabetes patient

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *