Breaking News

स्टेरॉइड का कोर्स कैसे करते हैं

steroids-course-for-web
पिरामिड                                          साइकिल                                       स्टैकिंग

पिरामिड, स्टैकिंग और साइकिल। स्टेरॉइड का कोर्स तीन तरह से चलता है। 32 तरह के स्टेरॉइड का बॉडी बिल्डिंग में मिसयूज होता है जो ओरल, इंजेक्टेबिल, हार्मोन पैच और जेल की शक्ल में आते हैं। प्रोफेशलन बॉडी बिल्डर इनका कोर्स चलाते हैं। यह सही ढंग से असर करे इसके लिए जरूरी होता है उसे सही डोज और सही तरीके से लिया जाए।

साइकिलिंग में एक तयशुदा टाइम फ्रेम के दौरान स्टेरॉइड की अलग अलग डोज लेना फिर कुछ समय के लिए रुक जाना और फिर दोबार शुरू करना होता है। जब आप कोर्स चला रहे होते हैं तो उसे इन साइकिल कहते हैं और जब आप रोक देते हैं तो उसे ऑफ साइकिल कहते हैं। ऐसा आमतौर पर तब तक किया जाता है, जब तक बॉडी बिल्डर का टारगेट पूरा नहीं होता। बीच-बीच में इसे रोका इसलिए जाता है ताकि शरीर के जरूरी अंग जैसे लिवर और किडनी को थोड़ा आराम पहुंचे। बहुत लंबे समय तक लगातार स्टेरॉइड से इनके फेल होने की आशंका बन जाती है।

स्टेरॉइड का इस्तेमाल करने वाले अक्सर कई अलग अलग किस्म के स्टेरॉइड को आपस में मिला कर लेते हैं। इसे स्टैकिंग कहा जाता है। आम भाषा में बात करें तो लोग अलग अलग किस्म के कुछ स्टेरॉइड लेते हैं चाहे वो खाने वाले हों या इंजेक्शन वाले और उन्हें आपस में मिलाकर इस्तेमाल करते हैं। कई बार वह ऐसे कंपाउंड्स को भी मिला लेते हैं जो आमतौर पर जानवरों की दवा के रूप में काम आते हैं। लोगों का मानना है कि अलग अलग लेने की बजाए इस मिलावट वाले स्टेरॉइड का असर ज्यादा होता है। हालांकि वैज्ञानिक तौर पर इसका कोई टेस्ट नहीं हुआ है।

स्टेरॉइड लेने का तीसरा तरीका है पिरामिड स्टाइल। इसमें लोग धीरे धीरे स्टेरॉइड की डोज बढ़ा देते हैं या साथ में दूसरे स्टेरॉइड शुरू कर देते हैं या दिन में कई बार डोज लेने लगते हैं और फिर एक तय सीमा पर जाकर धीरे धीरे इसे कम करते हुए वापस उसी प्वाइंट पर लाकर खत्म कर देते हैं जहां से यह शुरू हुआ था। पिरामिड का पीरियड आमतौर पर 6 से 12 सप्ताह का होता है। लोगों का मानना है कि ऐसा करने से बॉडी हाई डोज के लिए अपने आप को एडजस्ट करने लगती है।

 

इसी तरह से धीरे धीरे खत्म करने से बॉडी को अचानक खाली पन नहीं महसूस होता। पिरामिड स्टाइल में एक चक्र खत्म होने के बाद भी एक्सरसाइज लगातार जारी रहती है। इससे बॉडी के अपना हार्मोन सिस्टम दोबारा पटरी पर आ जाता है और शरीर को हुए नुकसान की मरम्मत भी हो जाती है। इसके बाद फिर दूसरा पिरामिड बनाया जाता है। वैसे तो ये स्टेराइड का मिस यूज ही है। मगर इसमें भी पिरामिड थोड़ा सेफ होता है।

 

Check Also

जिम जाने वाला हर शख्स बड़े ट्रैप्स (Big Traps) बनाना चाहता है। ट्रैप्स के लिए हमें हैवी और लाइट एक्सरसाइज को मिक्स करना होगा और ये समझना होगा कि ट्रैप्स की टॉप कसरतें क्या हैं।

बड़े ट्रैप्स बनाने की टॉप कसरतें और टिप्स- भाड़ में गई फॉर्म

लगाएं हैवी वेट, निकालें चीख। मसल्स का बाप भी बाहर आएगा। ट्रैप्स हमारी बॉडी का ...

16 comments

  1. The information is really good and precise. One of the best hindi sites I have visited till date.

    • Sir,
      Plsease tell me ki stiroyed or food supplement m kya difference hai or konsa tarika sahi hai jusse chodne par koi side effect naa kre pleases tell me….

      • इन दोनों दवाओं को हाथ भी नहीं लगाना। ये बेहद घटिया दवाएं हैं। वैसे हम कमेंट में किसी के सवाल का जवाब नहीं देते मगर आपका सवाल ही ऐसा था।
        आगे से कोई सवाल पूछना हो तो उसका तरीका ये है – आप http://www.bodylab.in वेबसाइट पर जाएं और दाईं ओर दिए गए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें फिर फेसबुक पर मैसेज के माध्‍यम से सवाल पूछें। हमारी टीम मैसेज इकट्ठा करने के बाद एक हफ्ते में सबके जवाब देती है। वेबसाइट पर आपको तारीख के हिसाब से जवाब मिल जाएगा। शुभकामनाओं सहित- टीम बॉडी लैब

  2. Sar pilz sar me bhut jaldi bodi banan chata hu to me setrodis liye sakht hu pilz

    • ये तो आपकी मर्जी है इसमें कोई क्‍या कहेगा। इतना ध्‍यान रखें चाहे स्‍टेरॉइड लें या कुछ और अगर आपकी डाइट सही नहीं हुई तो बॉडी नहीं बनेगी।

  3. Or lye shake a to kon kon se jish meri nes bhar aajye or me lin ho jao piz pilz sar

    • नसें बाहर निकालने के दो ही तरीके हैं किसी अच्छे कोच की निगरानी में बेहद कड़ी ट्रेनिंग या फिर वो दवायें जिन्हें लेने की सलाह हम नहीं देते।

  4. Sir mujhe cuting nikal ni hai mai 5saal se workout kar raha hu par abs nahi bana paya aabhi tak plz help ki jiye
    HUm jis jaga se hai baha trainer nahi hoty gym me bus gym hoti hai or supplements bhi online maga na padtha hai plz
    Kucj hepl ki jiye sir mujhe lean muscle kani ni hai

    • पहले हम डाइट की बात करें तो जिस तरह की डाइट आपको चाहिए उसमें 40 से 50 फीसदी प्रोटीन, 10 से 30 फीसदी कार्बोहाइड्रेट और 30 से 40 फीसदी फैट रहेगा। इससे आपका फैट लॉस होगा और लीन मसल्स बनेंगे मगर हां इसमें आपका वेट गिरेगा और साइज भी। आपको अंधेरा होने के बाद कार्ब या तो बिल्कुल नहीं खाना है या फिर बहुत कम खाना है। अब रही वर्कआउट की बात। जिम जाएं। करीब डेढ़ घंटे कसरत करें। एक पार्ट की छह कसरतें करें। रैप 15 से 8 तक रखें। कभी कभी कम रैप वाली हैवी ट्रेनिंग भी करें। आपको कुल मिलाकर फैट कम करना है और मसल्‍स बनाने हैं। जहां तक हो सके गर्म पानी पिया करें। रात को सोते समय जरूर एक बड़ा कप गर्म पानी पिएं। इन लेखों को चेक करें।

      6 पैक एब्स बनाने का हर तरीका जानें
      http://www.bodylab.in/2015/09/10/abs-literature-everything-about-six-pack/

      लीन बॉडी कसरत और डाइट चार्ट
      http://www.bodylab.in/2015/11/03/lean-body-exercise-and-diet-in-hindi/

  5. Steroid laine k bad konsa test katvana chahie or onka faida kya hota hai

    • सर हम स्टेरॉइड के बारे में सलाह नहीं देते। हां इतना जरूर कहते हैं कि इसके बाद पीसीटी हर हाल में करनी चाहिए। टेस्ट भी कई तरह के होते हैं कौन सा टेस्ट होना है ये इस बात पर डिपेंड करता है कि आप क्या पता लगाना चाहते हैं।

  6. Hlo, I m BoB
    Sir maine sirf 2mnth course kiya inject ka, bt PCT ni ki or time jyada hogya h, to kya mai ab PCT nhi kr skta?

    • नहीं।

      • Sir
        Jab bulking cycle chalu ho to konsa protein lena bahtar hoga whey protein yaa gainer aur bcaa bhi lena hoga kya

        • अगर बहुत दुबले पतले हैं तो गेनर लें लेकिन अगर शरीर ठीक ठाक है तो व्हे प्रोटीन लें। जिनती जरूरत है उतना प्रोटीन ले रहे हैं तो बीसीएए की अलग से जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *