Steroids | स्टेरायड क्या होता है

Article on Steroids abuse in bodybuilding in hindi by bodylab
Steroids injection and its misuse in body building in hindi.

स्टेरॉइड्स एनाबॉलिक एंड्रोजेनिक स्टेरॉइड्स का ही छोटा नाम है। यह वो कृत्रिम (सिंथेटिक) हार्मोंस होते हैं, जिनका संबंध पुरुष के सेक्स हार्मोंस और शरीर के विकास से होता है। ये मसल्स की ग्रोथ को प्रमोट करते हैं और मर्दों में मर्द के लक्षण पैदा करते हैं। इसकी खोज 1930 के आखिर में ऐसे लोगों का इलाज करने के मकसद से हुई थी जिनके अंडकोष (टेस्टिल्स) वाजिब मात्रा में ग्रोथ हार्मोंस नहीं बना पाते। धीरे-धीरे और कई तरह की परेशानियों में इसका इस्तेमाल किया जाने लगा। कई मायनों में तो स्टेरॉइड्स जान बचाने वाली दवा बन गया। आज गंभीर सड़क दुर्घटनाओं में घायल हुए मरीज को उबरने से लेकर किडनी और लीवर के रोगों में भी स्टेरॉइड्स दिया जाता है। दवा के रूप में स्टेरॉइड्स बहुत जगह काम आता है, मगर हमारा विषय बॉडी बिल्डिंग है।

बॉडी बिल्डिंग में हुई एंट्री
इसके अविष्कार के थोड़े ही वक्त बाद स्टेरॉइड्स का इस्तेमाल बॉडी बिल्डिंग में किया जाने लगा। इसने वो नतीजे दिए, जिनकी लोगों ने कल्पना भी नहीं की थी। आज जो विशाल बदन आप देखते हैं वो महज अंडों, दूध और चिकन से नहीं बने होते उन्हें विज्ञान ने बनाया है। दुनियाभर में इसका बेधडल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है, मगर सबकुछ चोरी छुपे क्योंकि दुनिया के ज्यादातर देशों में डॉक्टर के पर्चे के बिना इसे बेचना गैर कानूनी है। इसके भयानक साइड इफेक्ट्स के चलते इस पर प्रतिबंध लगाया गया है। बॉडी बिल्डिंग में इस्तेमाल होने वाले 32 स्टेरॉइड्स के नाम और उनके काम। 

क्या काम करता है स्टेरॉइड्स
बॉडी बिल्डिंग के मामले में स्टेरॉइड्स ने सबसे बड़ा काम किया है चीजों को बड़ा करने का। ग्रोथ करने की इंसान की एक हद होती है, स्टेरॉइड्स इंसान को उससे कहीं आगे ले गया है। पेड़ के तने जैसी टांगें, विशाल कंधे और मोटी डाल जैसे बाजू इसकी बदौलत तैयार हो रहे हैं। डॉक्टर जो कहते हैं बॉडी बिल्डर वो नहीं सुनते क्योंकि ये भी एक नशा है। किसी जरूरतमंद शख्स को जितनी डोज डॉक्टर देता है बॉडी बिल्डर उसकी 100 गुना तक ज्यादा डोज इस्तेमाल कर जाते हैं। इसके बेजा इस्तेमाल के भयानक साइड इफेक्ट्स होते हैं। हाल ही में इंग्लैंड के एक बॉडी बिल्डर की लिवर कैंसर के चलते मौत हो गई थी।

एनाबॉलिक और एंड्रोजेनिक में क्या फर्क है

एनाबॉलिक का संबंध होता है मसल्स के निर्माण से। वहीं एंड्रोजेनिक का संबंध मर्दानगी (सैक्स हार्मोंस) से होता है जैसे शरीर के बाल बढ़ना, आवाज में भारी पन आना वगैरा। मेडिकल साइंस ने तरक्की करते करते इन दोनों खूबियों को कुछ हद तक अलग कर लिया है।
जैसे एंड्रोल और एनावार को एंड्रोजेनिक स्टेराइड कहा जाता है। वहीं मास्टेरोन को एनाबॉलिक स्टेराइड कहते हैं। जो भी स्टेराइड एनाबॉलिक होगा वो एंड्रोजेनिक का भी काम करता है। यानी मास्‍टेरोन में एनावार और एंड्रोल के भी गुण हैं। इसीलिए मास्‍टेरोन असल में एनाबॉलिक-एंड्रोजेनिक स्टेराइड है।

किस तरह से लिया जाता है स्टेरॉइड्स
दो तरह के, ओरल और इंजेक्टेबल। यानी मुंह से लेने वाले और इंजेक्शन से लेने वाले। हालांकि अब पैच की फॉर्म में भी स्टेरॉइड्स आने लगे हैं। पैच को बॉडी पर चिपकाना होता है और वह धीरे धीरे हार्मोंस रिलीज करता रहता है।
ओरल स्टेरॉइड्स, जिनका आमतौर पर बॉडी बिल्डिंग में इस्तेमाल होता है उनमें एंड्रोल, ऑक्सेंड्रिन, डेनाबोल, मिंस्ट्रोल शामिल हैं। इंजेक्टेबल स्टेरॉइड्स जिनका आमतौर पर बॉडी बिल्डिंग में इस्तेमाल होता है उनमें डेका ड्योरोबलीन, टेस्टोस्टेरोन, इक्विपोज और टीएचजी शामिल हैं। अलग अलग कॉम्बिनेशन और अलग अलग कंपाउंड्स के साथ आज काले बाजार में और कई स्टेरॉइड्स मौजूद हैं।

स्टेराइड में लॉन्ग ईस्टर और शॉर्ट ईस्टर क्या होता है
देसी भाषा में बात करें तो शॉर्ट ईस्टर हार्मोंस को तेजी से बॉडी में रिलीज करते हैं और लॉन्ग देर से। आपने टेस्टोसटेरोन के इंजेक्शन का नाम तो सुना ही होगा। ये भी कई तरह के होते हैं जैसे टेस्टोसटेरोन प्रॉपियोनेट (testosterone propionate), टेस्टोसटेरोन इनेनथेट (testosterone Enanthate) या टेस्टोसटेरोन साइपोनेट (testosterone cypionate)। होने को ये तीनों एक ही हार्मोन हैं मगर काम अलग अलग तरह से करते हैं। प्रॉपियोनटे शॉर्ट ईस्टर है, ये तेजी से काम करना शुरू कर देता है वहीं इनेनथेट और साइपोनेट लॉन्ग ईस्टर हैं ये देर से और देर तक काम करते हैं।
इस बात से किसी को क्या मतलब
मतलब होता है। जब बॉडी बिल्डिंग में स्टेराइड का साइकिल किया जाता है तो ये देखना पड़ता है कि अलग अलग किस्म के स्टेराइड को एक वक्‍त पर कैसे चलाया जाए। शरीर को साइज देने में लॉन्ग ईस्टर ज्यादा कारगर होते हैं। बॉडी को हार्मोंस का बूम देने के लिए शॉर्ट ईस्टर अच्छे होते हैं।
बॉडी बिल्डर अपने साइकिल की शुरुआत लॉन्ग ईस्टर से और अंत शॉर्ट ईस्टर से करते हैं। टेस्टोसटेरोन का हर इंजेक्शन एक जैसा नहीं होता। बॉडी बिल्डर पहले पूरा नाम पढ़ते हैं फिर तय करते हैं कि कौन सा वाला इस्तेमाल करना है।

स्टेरॉइड के हाफ साइकिल से तय होता है शॉर्ट या लॉन्ग ईस्टर
इसी के आधार पर तय होता है कि कोई स्टेरॉइड लॉन्ग ईस्टर है या शॉर्ट ईस्टर। छोटा हाफ साइकिल मतलब शॉर्ट ईस्टर लंबा हाफ साइकिल मतलब लॉन्ग ईस्टर। एक स्टेरॉइड अपने हाफ साइकिल के करीब तीन गुना वक्त तक बॉडी में मौजूद रहता है। इसी के आधार पर यह तय किया जाता है कि स्टेराॅइ़स के 15 साइड इफेक्ट से बचने के लिए पीसीटी कब शुरू की जाए। यह रहा सबसे कॉमन स्टेरॉइड्स का हाफ साइकिल

स्टेरॉइड का नाम                        हाफ साइकिल
Anadrol (Oxymetholone)     8 – 9 घंटे
Anavar (Oxandrolone)                9 घंटे
Deca-Durabolin                          15 दिन
(Nandrolone Decanoate)
Dianabol 4.5 –                              6 घंटे
(Methandrostenolone)
Equipoise                                     14 दिन
(Boldenone Undecylenate)
Halotestin                                   9.5 घंटे
(Fluoxymesterone)
Masteron                                    4.5 दिन
(Drostanolone Propionate)
Nandrolone Phenylpropionate 4.5 दिन
Omnadren                                  15 – 18 दिन
Parabolan                                           14 दिन
(Trenbolone Hexa)
Primobolan, oral                           2 – 3 दिन
(Methenolone Acetate)
Primobolan, injectable                 7 – 10 दिन
(Methenolone Enanthate)
Sustanon 250                                15 – 18 दिन
Testosterone Cypionate              10 – 12 दिन
Testosterone Enanthate              7 – 10 दिन
Testosterone Propionate             4.5 दिन
Testosterone Suspension             2 – 4 घंटे
Trenbolone Acetate 3 दिन
Winstrol, oral (Stanozolol)                 9 घंटे
Winstrol, injectable (Stanozolol)     24 घंटे
नोट – अलग अलग कंपनी के प्रोडक्ट में थोड़ा बहुत अंतर हो सकता है।

Check Also

6 महीने लगे पहलवान से बॉडी बिल्डर बनने में – Lean body transformation

जाहिर तौर पर ये दो तस्वीरें एक ही शख्स की हैं यानी मैं। पहली तस्वीर ...

32 comments

  1. dear sir muje bhi steroids ka injection lena h to plz help me

    • सवाल पूछने का तरीका और कैसे व कहां मिलेगा जवाब
      आप वेबसाइट पर जाएं और हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें फिर फेसबुक पर मैसेज के माध्‍यम से सवाल पूछें। हमारी टीम अपने इनबॉक्‍स से सारे मैसेज इकट्ठा करने के बाद हफ्ते या दस दिन में एक लेख की शक्‍ल में सबके जवाब देती है। वेबसाइट पर बॉडीबिल्‍िडंग सवाल जवाब की कैटेगरी दी हुई है। उसे क्‍िलक करें। वहां तारीख के हिसाब से जवाब मिल जाएगा।
      शुभकामनाओं सहित- टीम बॉडी लैब

      • sir mujh ye jana h ki m termin injection kese use kru kitni matra m le skta hu m ise or hafte m kitni bar or kitne (ML) lena h

        • सॉरी सर हम किसी को स्‍टेरॉइड यूज करने की सलाह नहीं देते।

          • Sirji 1 saal tak steroied lene see mere platelets bad nahi rahe hai

          • इसके बारे में मैँ कुछ नहीं कह सकता। आप एक साल से स्टेरॉइड क्यूं ले रहे हैं ये भी मुझे नहीं पता। अगर आप किसी बीमारी की वजह से ऐसा कर रहे हैं तो फिर इस बारे में आपको डॉक्टर से बात करनी होगी।

  2. Sir mujhe bhi steroids lena mujhe kuch is k bare m bataiye m kese leu plz help me my contract namber 9987054780

    • सवाल पूछने का तरीका और कैसे व कहां मिलेगा जवाब आप http://www.bodylab.in वेबसाइट पर जाएं और दाईं ओर दिए गए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें फिर फेसबुक पर मैसेज के माध्‍यम से सवाल पूछें। हमारी टीम मैसेज इकट्ठा करने के बाद एक हफ्ते में सबके जवाब देती है। वेबसाइट पर आपको तारीख के हिसाब से जवाब मिल जाएगा। शुभकामनाओं सहित- टीम बॉडी लैब

  3. sir mujh ye jana h ki m termin injection kese use kru kitni matra m le skta hu m ise or hafte m kitni bar or kitne (ML) lena h

  4. Hello sir me 5 sal se Bodybuilding band kar diya tha ab suru ki hai power stamina size kuch nahi hai or pet me jayda fat hai mera by shape 18 inch ka hai ab mere ko again bodybuilding compitition me back karna hai to ab kya use karu or kaise pls help me I want to use steroids

    • सर सबसे पहले तो आप दो तीन महीने वर्कआउट करें, प्रोटीन लें और बॉडी को जरा दुरुस्त करें। उसके बाद टारगेट के हिसाब से काम होगा। अगर आपको हैवी वेट में कंपटीशन खेलना है तो पहले आप गेन करेंगे और फिर कटिंग। अगर आपको कम वेट में खेलना है तो इसी स्टेज से कटिंग शुरू करें, 18 का बाइसेप्स है सही डाइट के साथ कटिंग करेंगे तो 17.5 या 17 तक आ जाएगा। इससे नीचे नहीं जाएगा। स्टेरॉइड लेने की सलाह हम देते नहीं। लेकिन सुना है कि लोग कटिंग के लिए एनावार का यूज करते हैं। अगर कंपटीशन लड़ना है तो बिना कोच के तैयारी करनी बेहद कठिन है। बेहतर होगा कि आप कोई कोच ढूंढ लें।

  5. hello Sir mene 2 month pehle 1 month ki cycle chalai thi injective steroids ki or oral bhi….fir mene abi kucch dino pehle hi body woshOut kraya hai… sir me ye steroids ab kabhi nhi lena chahta hu..to kya mujhe isse aage jaake koi prolbms aayengi sir…bss ye janna chahta hu

    • सर इसकी कोई गारंटी तो नहीं है। आप इतना जरूर करें कि कसरत न छोड़ें अभी कुछ टाइम तक और खानपान बनाए रखें।

  6. Sir me bodybuilding karna chahta ho me khon sa injection use kar aour kitni matra me lo

    • वैसे तो हम स्टेरॉइड को लेकर कोई सलाह नहीं देते और दूसरी बात इस एक लाइन के सवाल से आपको कोई क्या जवाब देगा

      • Sir dianabol ka asar Kitni der tak rehta hai

        • इसका असर बॉडी में 4 से 6 घंटे तक सबसे ज्यादा रहता है उसके बाद 12 घंटे तक इसे आसानी से ब्लड में पकड़ा जा सकता है।

  7. Mujhe bhi steriods use krna hai kon sa injection use karu or dose kya hai

  8. Hi sir m gym jat ho magr merko koi fayda nhi ho rah h tu sir merko kya karna chhiya

  9. Running ke liye use kiya ja skta h kya steroids please help me sir

    • हम स्टेरॉइड को लेकर कोई सलाह नहीं देते। हालांकि रनिंग के लिए लोग आमतौर पर Winstrol/Stanozolol और Anavar का मिसयूज करते हैं।

  10. Hlo sir maine krib. 10year phle. 20tabs–drexona0.5mg. Orrr.
    20tabs precitine 5mg. 1month tk le thi. Kya iska side effect abi ho skta hai. …..???
    Agr hoga toh. Iska kya solution hai

  11. sir running stamina ko fast karne ke liye kya use karu please sir bataiye

    • हम स्टेरॉइड को लेकर कोई सलाह नहीं देते। हालांकि रनिंग के लिए लोग आमतौर पर Winstrol/Stanozolol और Anavar का मिसयूज करते हैं।

  12. gud sir ese he ham sab ki madat kro

  13. Sir koi dubla patla aadmi iska istemal karke bodybuilder ban sakta he kya.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *