Home / FIT FIGURE / सौ फीसदी सैक्‍सी पैरों की चार सख्‍त कसरतें

सौ फीसदी सैक्‍सी पैरों की चार सख्‍त कसरतें

सबके लेग्स सैक्सी नहीं होते, लेकिन हर कोई उन्हें सैक्सी बना सकता है। यह काम इतना भी मुश्किल नहीं है, जिनता आपको लगता होगा। मेहनत महज दो माह की है, एक बार आपकी गाड़ी सही ट्रैक पर आ गई तो छह माह में आप अपने पैरों को टोन कर लेंगी। हां जी छह माह, हम आपको किसी मुगालते में नहीं रखना चाहिए। बेडौल पैरों को लय में लाने के लिए इतना वक्त लगना ही है। सुनने में यह वक्त ज्यादा लगे मगर सच मानें कई युवतियां देखने और सोचने में ही छह माह यहां तक कि छह साल निकाल देती हैं। वैसे कई युवतियां कम समय में भी रिजल्ट हासिल कर लेती हैं। आज भी जानती हैं कि काफी चीजें आप पर डिपेंड करती हैं। हम आपको पैरों की एक्सरसाइज का एक शेड्यूल बता रहे हैं, जो है तो जरा टफ मगर मनचाहा रिजल्ट पाने के लिए जरूरी है। वरना हल्की कसरतें और हल्के फुल्के नतीजे ही मिल पाएंगे। अगर आपके घर में सामान है तो चारों कसरतें घर पर भी हो जाएंगी।
stepper-for-webएक्सरसाइज नंबर 1, स्टैपर
कम मेहनत वाली सबकी पसंदीदी एक्सरसाइज है स्पैपर। कुछ महिलाएं इस पर खूब टाइम पास करती हैं, मगर आपको नहीं करना है। आपको वार्म करने के लिए यह कसरत करनी है। पहल सेट बिना वेट लिए करें और उसके बाद तीन सेट हाथों में डंबल लेकर करें। यानी कुल मिलाकर चार सेट, हर सेट में 10 से 12 रैप।
front-for-webएक्सरसाइज नंबर 2, फ्रंट स्क्वेट
आपके क्वॉड्स पर काम करने वाली सबसे बेहतर एक्सरसाइज है फ्रंट स्क्वेट। क्वॉड्स आपकी जांघ का ऊपरी हिस्सा होता है। इसे करते वक्त आपके घुटनों को मोशन करने की ज्यादा जगह मिलती है क्योंकि आपको वेट लेकर खुद को सीधा रखना होता है। इस एक्सरसाइज में कई बार वेट कलाइयों की ओर खिसक जाता है इसलिए हाथों में अच्छी क्वालिटी का बैंड या फिर गर्म पट्टी बांध लें। नीचे जाते वक्त सांस लेनी है और ऊपर उठते वक्त सांस छोड़नी है। चार सेट लगाने हैं। पहला सेट हल्के वेट के साथ दस से 12 रैप और उसके बाद तीन सेट वाजिब वेट के साथ 10 से 12 रैप।
back-squats-for-webएक्सरसाइज नंबर 3, बैक स्क्वेट
यह पूरे पैर पर काम करती है। आपके क्वाड्स, हैम सिट्रंग और गट्स तीनों पर काम करती है। सबसे ज्यादा असर गट्स और हैम स्ट्रिंग पर पड़ता है। इस एक्सरसाइज में औरों के मुकाबले ज्यादा कैलोरी खर्च होती है। यह पीछे के हिस्से को बेहतरीन शेप देती है। इस कसरत को करते वक्त सबसे ज्यादा ध्यान बैठने के पोस्चर पर देना होता है। सबसे पहले आपके हिप्स बाहर की ओर मूव करेंगे। कुल चार सेट लगाने हैं। पहला सेट हल्के वेट के साथ दस से 12 रैप और बाकी की तीन सेट हैवी वेट के साथ 10 से 12 रैप। कैसे करें सही ढंग से स्क्वेट। अगर यह लिंक काम न करे तो सिखें कसरत वाली कैटेगरी में यह कसरत मिल जाएगी। स्‍क्‍वेट सीखने के लिए क्‍लिक करें।
walking-luges-for-webएक्सरसाइज नंबर 4, वाकिंग लंजेज़
फ्रंट और बैक स्क्वेट करने के बाद जो मसल्स बच जाते हैं यह उन सबको एक्टिवेट करती है। इस एक्सरसाइज में आप वेट लेगर आगे बढ़ती हैं इसलिए यह मल्टी ज्वाइंट कसरत होती है। आखिर में करने से आपके पैर का हर मसल खिल उठेगा। आप चाहें तो दोनों हाथों में डंबल लेकर भी इसे कर सकती हैं। हर एक कदम पर आप इतना नीचे बैठेंगी कि जो पैर आगे है उससे 90 डिग्री का एंगल बनेगा और दूसरे पैर का घुटना जमीन से चार इंच ऊपर रह जाएगा। कम से कम 10 कदम चलें। इस कसरत के तीन सेट, 10 से 12 रैप लगाएं।
इन सबके बाद हो सके तो एक दो मिनट हल्की वॉक कर लें। एक बात का ध्यान रखें कि आपको यह शेड्यूल पूरे छह महीने फॉलो नहीं करना है। इन कसरतों को आगे पीछे कर सकती हैं। कोई नई कसरत जोड़ें, पुरानी हटाएं। बदलाव भी जरूरी है।

Check Also

अगर आपको स्तनों से जुड़ी कोई बीमारी नहीं है तो ब्रेस्‍ट का साइज बढ़ाया जा सकता है।

2 महीने में ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने के 10 बेस्ट घरेलू उपाय

बड़े अच्छे लगते हैं। ये बात उन महिलाओं से बेहतर कौन समझ सकता है जिनके ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *