दांत के रोगियों को ब्रेन और हार्ट स्‍ट्रोक का खतरा ज्‍यादा

नई दिल्‍ली। कोई आम आदमी आपसे कहे कि दांत के रोग दिल और दिमाग के रोग का रास्‍ता बना देते हैं तो मुमकिन है आप यकीन नहीं करें मगर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान उर्फ एम्‍स के डॉक्‍टर ऐसा कह रहे हैं।
अस्‍पताल के न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉक्‍टर कामेश्‍वर प्रसाद ने हाल ही में बताया कि जिन लोगों को पायरिया रोग होता है उन्‍हें हार्ट स्‍ट्रोक और ब्रेन स्‍ट्रोक का खतरा भी पैदा हो जता है। उन्‍होंने यह बात ऐसी कई रोगियों को देखने के बाद कही जो हार्ट स्‍ट्रोक या ब्रेन स्‍ट्रोक के बाद एम्‍स आए थे। उनमें से कई की केस हिस्‍ट्री में पायरिया शामिल था। दरअसल कई लोगों में दांतों की गंदगी खून की नसों को ब्‍लॉक कर देती है। ये स्‍ट्रोक की वजह बन जाता है।
इस तरह के केस सामने आने के बाद अब एम्‍स ने इस पर अलग से रिसर्च शुरू कर दी है। वैसे दुनिया में पायरिया और स्‍ट्रोक के रिलेशन को लेकर रिसर्च हुई हैं। बाकी देशों में हुई पड़ताल की रिपोर्ट के मुताबिक, दांत की बीमारी वाले लोगों में स्‍ट्रोक का खतरा 50 फीसदी बढ़ जाता है।
आंकड़ों पर गौर करें तो भारत में करीब 45 फीसदी लोगों को दांत की कोई न कोई बीमारी है। हमारे देश में हर साल करीब 16 लाख लोगों को स्‍ट्रोक पड़ता है। अगर आपको भी दांतों की कोई समस्‍या है तो इसे हल्‍के में न लें।

Check Also

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना पर कहा, हमें अब आगे का सोचना होगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड-19 से उत्‍पन्‍न स्थिति पर चर्चा करने और इस महामारी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *